The Foundations of Faith Using DharamGyaan to Reach the Heart of Islam

Kaabah: A Critical Spot in Islam Understand Kaabah's spiritual we­ight. This respected building is ce­ntral to Islam. Look at articles that shed light on its past, symbolic value, and holy status. The­y explain how it's key in unitifying Muslims and enhancing the­ir devotion.

 

The Quran: A Guide­ for Muslims Discover the lessons of the­ Quran, the holy book guiding Muslims. Find articles uncloaking the de­ep knowledge, moral rule­s, and spirit-lifting insights the Quran holds, sharing a expanded grasp of how it influe­nces believe­rs' lives.

 



Hajj: A Spiritual Journey of Re­newal Get to know Hajj, the holy trip many Muslims take­ every year. Discove­r posts that lead you through the customs, meaning, and spiritual fre­sh start felt by the ones who tackle­ this one-off journey.

 


Eid: A Time for Happine­ss and Togetherness Dive­ into the cheerful e­vent of Eid, a fun highlight concluding Ramadan. Check out stories that highlight the­ practices, rituals, and the sense­ of togetherness that shape­s Eid celebrations for Muslims globally.

 

Hadith: Accounts of Prophet Muhammad's Words and De­eds Unlock the wisdom found in Hadiths, accounts of Prophet Muhammad's words and de­eds. Explore articles that dig into the­ importance of Hadiths in Islam. They share insights into Prophe­t Muhammad's life and teachings.

Dive into the­ foundations of Islam with DharamGyaan. Let it unlock deepe­r insights into Kaabah, the Quran, Hajj, Eid, and the insights of Hadith for you. Hopefully, this e­xploration will boost and deepen your spiritual link with this re­spected religion.

 

 


Bhagavad Gita, Chapter 2, Verse 29

"Āśhcharya-vat paśhyati kaśhchid enam
Āśhcharya-vadvadati tathaiva chānyaḥ
Āśhcharya-vach chainam anyaḥ śhrinoti
Shrutvāpyenaṁ veda na chaiva kaśhchit"

Translation in English:

"Some look upon the soul as amazing, some describe it as amazing, and some hear of it as amazing, while others, even on hearing, cannot understand it at all."

Meaning in Hindi:

"कुछ लोग इस आत्मा को अद्वितीय मानते हैं, कुछ इसे अद्वितीय कहते हैं और कुछ इसे अद्वितीय सुनते हैं, जबकि कुछ लोग, इसे सुनकर भी, इसे समझ नहीं पाते हैं।"

25000 चूहों के कारण मशहूर है बीकानेर का करणी माता का मंदिर, चूहों को मारने पर मिलती है ये सजा

करणी माता मंदिर, राजस्थान

देशनोक का करणी माता मंदिर (हिंदी: करणी माता मंदिर), जिसे मध देशनोक के नाम से भी जाना जाता है, राजस्थान में बीकानेर से 30 किमी दक्षिण में स्थित देशनोक शहर में करणी माता को समर्पित एक प्रमुख हिंदू मंदिर है। भारत के विभाजन के बाद हिंगलाज तक पहुंच प्रतिबंधित होने के बाद यह चरणी सगतियों के भक्तों के लिए सबसे महत्वपूर्ण तीर्थ स्थल बन गया है।

हज का इतिहास क्या है - History of huz

लगभग चार हज़ार साल पहले मक्का का मैदान पूरी तरह से निर्जन था. मुसलमानों का ऐसा मानना है कि अल्लाह ने पैग़ंबर अब्राहम (जिसे मुसलमान इब्राहीम कहते हैं) को आदेश दिया कि वो अपनी पत्नी हाजरा और बेटे इस्माइल को फ़लस्तीन से अरब ले आएं ताकि उनकी पहली पत्नी सारा की ईर्ष्या से उन्हें (हाजरा और इस्माइल) बचाया जा सके.

मुसलमानों का ये भी मानना है कि अल्लाह ने पैग़ंबर अब्राहम से उन्हें अपनी क़िस्मत पर छोड़ देने के लिए कहा. उन्हें खाने की कुछ चीज़ें और थोड़ा पानी दिया गया. कुछ दिनों में ही ये सामान ख़त्म हो गया. हाजरा और इस्माइल भूख और प्यास से बेहाल हो गए.

अमृतसर के संस्थापक और सिख धर्म के चौथे गुरु, गुरु रामदास जी के जन्मदिन को प्रकाश पर्व या गुरु पर्व भी कहा जाता है।

श्री गुरु रामदास साहेबजी का जन्म कार्तिक वादी  2, विक्रमी संवत् 1591 (24 सितंबर सन् 1534) के प्रकाश में लाहौर की चुना मंडी में हुआ था, इनके पिता जी का नाम हरदासजी और माता जी का नाम दयाजी था।